Not Possible

सब मिल जाए सभी को…………….. सभ मिल जाए सभी को, ये तो एक पहेली होगी क्योंकि अगर आँसू ना हो तो, आँख भी तो अकेली होगी अरे! ये तो रहम है उसका, के कुछ कुछ दिया है हर किसी को उसने वरना झोली भी खाली, और खाली ये हथेली होगी

What I Want

इस रूह की तड़प तब जायेगी इस रूह की तड़प तब जायेगी जब खुशहाली छा जायेगी भूख ना होगी भुख को भी प्यास भी जब मिट जायेगी   सौगात बनेगा जन्म बेटी का हर बच्ची पढ़ने जाएगी विदा करेगा बाप भी हँस के जब हँसती लोट के आएगी इस रूह…

How Do I write

लोगों ने पूछा के वक़्त कहाँ से निकालते हो कैसे तुम लफ़्ज़ों से दिल का हाल लिख डालते हो मैंने कहा कुछ नही, बस थोड़ा सोच को पालता हुँ घर पर अकेला होता हुँ ना! इसलिए खुद से विचार विमर्श कर डालता हुँ